Recent Posts

Mere Sher

27 Dec 19
admin
No Comments

दिल का हाल अल्फ़ाज़ों में जो कर सके बयान, ज़िन्दगी की उलझनों को जो जुबां पे ला सकता है… वही है बस एक ऐसा इंसान ‘इमरान’, जो शायर कहला सकता है

Shayar?

05 Dec 19
admin
No Comments

दिल का हाल अल्फ़ाज़ों में जो कर सके बयान, ज़िन्दगी की उलझनों को जो जुबां पे ला सकता है… वही है बस एक ऐसा इंसान ‘इमरान’, जो शायर कहला सकता है

Tere Siva

04 Dec 19
admin
No Comments

KHUDA KARE TERI KHUSHI SE BEHTAR KUCH NA HO,
TU HI TU RAHE SAMNE AUR KUCH NA HO..

MUJHE MAAF KAR JO DIL DUKHAYA TERA,
AB KABHI NA JAUNGA, BAS MERE SAMNE RAHO.

Waqt ka takaza!

30 Nov 19
admin
one comments

Tu khud me kahin gum, main yahan mashghool,

Na chain tujhe hai, na Sukoon mujhe qubool,

Kitni be-parwah ho gai apni zindagi,
Na waqt mere paas, na aana tujhe husool…